sakshipost-hindi_2018-04_a446191f-2d5c-4a8a-b3f9-d35d92e89ebf_f288725b_a576_488d_adc6_187e222a2ee5.jpg

कठुआ मामले में अगली सुनवाई 28 अप्रैल को सेशन कोर्ट में होगी

कठुआ में 8 साल की बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में अब अगली सुनवाई 28 अप्रैल को होगी। सभी आरोपियों को आज जिला अदालत के समक्ष पेश किया गया। सुनवाई के बाद अभियुक्तों के वकील अंकुर शर्मा ने कहा, 'न्यायालय ने निर्देश दिया है कि सभी आरोपियों को चार्जशीट की कॉपी दी जाएं। हम नार्को टेस्ट के लिए तैयार हैं। अगली सुनवाई 28 अप्रैल को होगी।'

बहुचर्चित रसाना मामले की सुनवाई अब 28 अप्रैल को सेशन कोर्ट कठुआ में होगी। आज (सोमवार) चीफ ज्युडिशियल मजिस्ट्रेट कठुआ ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद मामले की सुनवाई सेशन कोर्ट में स्थानांतरित कर दी। इस दौरान मुख्य आरोपी सांझी राम ने कोर्ट में चिल्ला कर नार्को टेस्ट करवाने की मांग की। इससे पहले सोमवार सुबह दस बजे कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच पुलिस सभी आठ आरोपियों को चीफ ज्युडिशियल मजिस्ट्रेट कोर्ट में ले आई। सुनवाई के दौरान आरोपियों की ओर से पेश हुए वकीलों एके साहनी, अंकुर शर्मा ने कहा कि अभी तक आरोपियों को क्राइम ब्रांच की ओर से पेश की गई चार्जशीट की कॉपी तक नहीं दी गई है। उन्होंने मामले की सुनवाई 28 अप्रैल करने का विरोध करते हुए कहा कि चार्जशीट 400 से अधिक पन्नों की है। इसे पढ़ने के लिए भी समय चाहिए, इसमें कई कमियां हैं। वकीलों ने यह भी कहा इसमें 239 गवाह हैं और इन्हें पेश करने में ही काफी समय लग जाएगा। ऐसे में फास्ट ट्रैक कोर्ट में 90 दिन में सुनवाई करना संभव नहीं है। इस दौरान कोर्ट में मौजूद आरोपी सांझी राम ने सभी आरोपियों के नार्को टेस्ट करवाने की भी मांग की। करीब एक घंटे तक चली सुनवाई के दौरान कोर्ट लोगों और मीडिया से खचाखच भरा हुआ था। इस दौरान सभी आठ आरोपी सांझी राम, परवेश, विशाल शर्मा, सुरेंद्र वर्मा, दीपक खजूरिया, तिलक राज और आनंद दत्ता समेत एक नाबालिग मौजूद थे। वहीं, मुख्य आरोपी सांझी राम ने भी कहा है कि वह नार्को टेस्ट के लिए तैयार है। आरोपी का कहना है कि नार्को टेस्ट के बाद सारी सच्चाई खुद सामने आ जाएगी।



2018 © birdfeatures.in

Developed by Anichand Technology